आधारिक संरचना

परिषद् ने राष्ट्रीय स्तर पर वैकुंठ मेहता राष्ट्रीय सहकारी प्रबंध संस्थान, पुणे, 5 क्षेत्रीय सहकारी प्रबंध संस्थानों यथा बंगलौर, चंडीगढ़, गांधीनगर, कल्याणी, पटना तथा 14 सहकारी प्रबंध संस्थानों यथा भोपाल, भुवनेश्वर, चेन्नई, देहरादून, गुवाहाटी, हैदराबाद, इम्फाल, जयपुर, कन्नूर, लखनऊ, मदुरै, नागपुर, पूना एवं तिरूवनंतपुरम द्वारा अपना प्रशिक्षण संबंधी आधारभूत ढांचा स्थापित किया है। देश के राज्य सहकारी संघों द्वारा संचालित लगभग 109 कनिष्ठ सहकारी प्रशिक्षण केंद्रों को भी परिषद् शैक्षिक सहायता प्रदान करती है। परिषद् का प्रबंध दो स्तरों यथा (1) कारपोरेट स्तर एवं (2) संस्थान स्तर पर होता है।

(1) मुख्यालय स्तर पर

काॅरपोरेट स्तर पर भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ के अध्यक्ष राष्ट्रीय सहकारी प्रशिक्षण परिषद् के पदेन अध्यक्ष एवं भा.रा.स. संघ के मुख्य कार्यकारी परिषद् के पदेन महानिदेशक और कार्यकारी उपाध्यक्ष हैं। सचिव परिषद् के मुख्य कार्यकारी एवं सदस्य संयोजक हैं। भारत सरकार के परामर्श से भा0रा0स0 संघ द्वारा गठित रा0स0प्र0 परिषद् एक सर्वोच्च निकाय है जिसका प्रतिनिधित्व भारत सरकार राष्ट्रीय सहकारी परिसंघों, राज्य सरकारों, राज्य सहकारी संघों, नाबार्ड एवं प्रबंध विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है।

(2) संस्थान स्तर

संस्थान स्तर पर प्रत्येक संस्थान की प्रबंध समिति का गठन रा. स. प्र. परिषद् द्वारा किया जाता है। यह प्रबंध समितियां अपने कार्यक्षेत्र में आने वाले संस्थानों के प्रबंध की देखभाल के लिए उत्तरदायी होती हैं। राष्ट्रीय संस्थान की प्रबंध समिति का गठन भारत सरकार द्वारा अतिरिक्त सचिव, कृषि एवं सहकारिता विभाग द्वारा किया जाता है। राज्य सहकारी संघ के अध्यक्ष सामान्यतः सहकारी प्रबंध संस्थान की प्रबंध समिति के अध्यक्ष नामित किए जाते हैं। प्रत्येक सहकारी प्रबंध संस्थान में निबंधक की अध्यक्षता में एक कार्यक्रम सलाहकार समिति का गठन किया गया है। राज्य सहकारी संघों के मुख्य कार्यकारी, राज्य सरकारों से संबंधित अन्य विभागों के प्रमुख एवं स्थानीय विश्वविद्यालयों/प्रबंध संस्थानों के प्रतिनिधि इस समिति के सदस्य होते हैं। प्रत्येक संस्थान के वार्षिक प्रशिक्षण कार्यक्रम को सलाहकार समिति के परामर्श से अंतिम रूप दिया जाता है।

रा0स0प्र0 परिषद् वरिष्ठ स्तरीय कार्यकारियों के लिए वैमनीकाॅम तथा मध्यस्तरीय एवं कनिष्ठ स्तरीय कार्यकारियों एवं सहकारिताओं के सदस्यों के लिए 19 क्षे0 स0 प्र0 संस्थानों/स0 प्र0 संस्थानों के माध्यम से कार्यक्रमों का आयोजन करती है।

(A Grant-in-Aid Institution under Ministry of Agriculture, Government Of India)